भागवत कथा में वृंदावन से पधारे कथा प्रवक्ता आचार्य कथा राजीव कृष्ण - Latest News & Updates - Rohilkhand Prabhat News

भागवत कथा में वृंदावन से पधारे कथा प्रवक्ता आचार्य कथा राजीव कृष्ण

Spread the love

बदायूँ। आदर्श नगर में चल रही सात दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा के द्वितीय दिवस आज वृंदावन धाम से पधारे कथा प्रवक्ता आचार्य कथा राजीव कृष्ण जी द्वारा अभिमान ना करने एवं सन्तजनों की सेवा करने की सीख दी। भागवत के द्वितीय दिवस के मुख्य यजमान राजेंद्र प्रसाद गुप्ता उर्फ राजू भैया रहे। राजीव कृष्ण भारद्वाज के मुखारविंद से भक्तजनों को कथा सुनाते हुये कहा कि भागवत महापुराण साक्षात श्री कृष्ण का ही वांग्मय स्वरूप है। जिसका श्रवण हमेशा भक्ति भाव से ही करना चाहियें 17 पुराण लिखने के बाद मन को शांति नहीं मिलने पर नारद जी के द्वारा मूल भागवत का उपदेश देने पर ही 17000 श्लोकों से युक्त इस विशाल पुराण की रचना की। संत जनों की सेवा और दर्शन से ही रामदास देव ऋषि नारद हुए।
उन्होंने बताया कलयुग के चलते राजा परीक्षित ने मृत सर्प शमीक मुनि के गले में डाल दिया तो ऋषि पुत्र ने राजा को श्राप दिया किंतु जब परीक्षित के शिष्य कली का प्रभाव नष्ट हुआ तो उन्हें दुख हुआ और उन्होंने गोविंद के चरणों में अपने मन को एकाग्र किया और श्री शुक्रदेव जी ने भागवत कथा सुनाकर उनका उद्धार किया।
गोपाल शर्मा ने धर्मप्रेमियों से 20 फरवरी तक प्रतिदिन 6 बजे से रात्रि 10 बजे तक भागवत कथा सुनकर धर्मलाभ उठाने का आह्वान किया।
इस मौके पर यज्ञ आचार्य सुरेंद्र कुमार भारद्वाज नरवर वाले, ब्रह्मदत्त वशिष्ठ, शशांक गुप्ता, सुमित गुप्ता, उत्कर्ष, देव, अमोल शर्मा समेत समस्त धर्म प्रेमी मौजूद रहे।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *