अब बेटो से ज्यादा सहारा बनती हैं बेटियाँ..डीएम

डीएम ने फीता काटकर एवं दीप प्रज्जवलित कर किया कार्यक्रम का शुभारंभ

बदायूँ। जिलाधिकारी दीपा रंजन ने सोमवार को राजकीय मेडीकल काॅलेज पहुंचकर अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस कार्यक्रम का फीता काटकर एवं माँ सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर शुभारंभ किया। काॅलेज की छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम भी पेश किये जिसकी डीएम ने प्रशंसा की।
डीएम ने छात्राओं द्वारा प्रस्तुत किए गए कार्यक्रम की प्रशंसा करते हुए कहा कि महिलाओं को ईश्वर ने सशक्त करके भेजा है उसे कौन सशक्त कर सकता है महिला विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत होते हुए भी अपने परिवार के दायित्व को भली भांति निभाती है। महिलाओं को सशक्त बनाने की बजाय उनको मौका देने की जरूरत है। आज समाज में यह देखा जाता है कि बेटे और बेटियों के साथ अलग अलग प्रकार का व्यवहार करते हैं सबसे पहले हमें इस फर्क को मिटाना होगा। एक समय था जब लोगों को लगता था कि बेटे होंगे तो वह हमारे बुढ़ापे का सहारा बनेंगे बेटियां तो पराया धन होती हैं लेकिन वक्त बदल गया है अब बेटियां ज्यादा सहारा बनती हैं। चाहे किसी मुकाम पर पहुंच जायें हर प्रकार से अपने आसपास के लोगों की सहायता अवश्य करें। इस मौके पर राजकीय मेडीकल काॅलेज के प्रधानाचार्य आरपी सिंह, चिकित्सक एवं छात्र-छात्राएं मौजूद रहे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: