गरीब नवाज के कुल के मौके पर सजाई महफिलें..फातिहा का तबर्रुक किया तकसीम

बदायूँ। शहर सहित पूरे जनपद में हजरत ख्वाजा गरीब नवाज हजरत मोईनउद्दीन चिश्ती अजमेरी के कुल शरीफ के मौके पर अकीदतमंदों द्धारा कुल शरीफ की रस्म अदायगी के साथ महफिलें सजाई गई।साथ ही उनके नाम की फातिहा दिलाकर तबर्रुक तकसीम किया गया।
गौरतलब है कि सारे हिंदी के बादशाह हजरत ख्वाजा गरीब नवाज के कुल के मोके पर तमाम अकीदतमंदों ने उनके नाम की महफिलें सजाकर उन्हें याद किया साथ ही पकवानों पर उनके नाम की फातिहा दिलाकर तबर्रुक तकसीम किया।
इधर बिसौली क्षेत्र के अकीदतमंदों ने नियाज नजर दिलाकर लंगर किया। साथ ही नगर की खानकाहों व दरगाहों के साथ साथ बहुत सी जगहों पर कुरान ख्वानी व नातो मनकबत और तकरीर के बाद कुल की रस्म अदा की गई। मौहल्ला कौआ टोला में दादा मियाँ दरगाह पर कब्बाली की महफिल सजाई गई। जहां कव्वाल असरार साबरी व सब्बर खाँ व छोटी ने कब्बाली की महफिल में सूफियाना कलाम पेश किये। मौजूद लोगो ने कब्बाली के कलामों का आनंद लिया।
लोगो का मानना है कि हजरत ख्वाजा गरीब नवाज अजमेरी की दरगाह की हाजरी करने से दिली मुरादें जरूर पूरी होती हैं। साथ ही उन्हें याद करना व उनके नाम की महफिलें सजाना व फातिहा दिलाकर तबर्रुक तकसीम करना बडे सबाब का काम है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: