मेडिकल उपकरणों की खरीद में किया गया करोड़ों का घोटाला

*आम आदमी पार्टी के जिलाध्यक्ष ने जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन*

बदायूँ। कोविड की 2 लहरों ने उत्तरप्रदेश की जनता को बुरी तरह से तोड़ के रख दिया है जीवनरक्षक मेडिकल उपकरणों की खरीद में करोड़ों का घोटाला भी किया गया है। आम आदमी पार्टी के जिलाध्यक्ष भूदेव सिंह ने महामहिम राज्यपाल के नाम जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा है।
दिये गये ज्ञापन में कहा गया है की कोविड की 2 लहरों ने उत्तरप्रदेश की जनता को बुरी तरह से तोड़ के रख दिया है । लाखों लोगों ने अपनो को खोया है और लाखों लोगों के घर बर्बाद हो गए हैं टूटती हुई सांसों के बीच ऑक्सीजन, बेड और इलाज के लिए हर इंसान एक खौफ़नाक अनुभव से हो कर गुजरा है ।
सरकारी कुव्यवस्था और असंवेदनशीलता भी खुल कर सामने आई जिसकी वजह से मौतों और बदहाली का सिलसिला और बड़ा होता गया लाशों के अंतिम संस्कार के लिए जगहें नहीं बचीं। यह सब हमें एक बहुत बड़ा सबक दे कर गया कि हम अब आने वाले खतरे से निपटने की ईमानदारी से तैयारी करें और कोरोना की तीसरी लहर जिसमे आशंका जताई जा रही है कि इससे बच्चे ज्यादा प्रभावित होंगे उसके लिए अपने अस्पतालों को तैयार कर लें । लेकिन उत्तरप्रदेश में इन तैयारियों की आड़ में एक बड़े घोटाले को अंजाम दे दिया गया है जिसके दस्तावेज चीख चीख कर ये बताते हैं कि इसमे शीर्ष स्तर के अधिकारी सीधे तौर पर शामिल हैं।
यूपी में बच्चों के वेंटिलेटर सहित तमाम अन्य जीवनरक्षक उपकरण खरीदे जा रहे हैं लेकिन प्रमुख सचिव.चिकित्सा शिक्षा द्वारा जारी एक अजीबोगरीब आदेश में इनकी खरीद के लिए टेंडर या बिडिंग की बाध्यता खत्म करके चहेती कम्पनियों से खरीद का इशारा किया गया है। इस आदेश के जरिये इन उपकरणों को बाजार से अत्यधिक ज्यादा कीमत पर खरीदा जा रहा है। आम आदमी पार्टी के पास मौजूद कागज़ात ये बता रहे हैं कि एक ब्लैकलिस्टेड कम्पनी से जो वेंटीलेटर यहां 17 लाख से 22 लाख तक के खरीदे जा रहे हैं उसी मॉडल के वेंटिलेटर को मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार 11 लाख में खरीद रही है यानि स्पष्ट रूप से बच्चों की जान बचाने के उपकरणों की खरीद में शर्मनाक घोटाला किया जा रहा है।
महोदया आपसे अपेक्षा है कि
लाखों लोगों के जान गंवा देने के बाद भी अगली लहर से निपटने की तैयारियों में घोटाले करने वाले अधिकारियों पर तत्काल मुकदमा दर्ज करके गिरफ्तार करवाने का आदेश करें।
इस पूरे प्रकरण को सीबीआई की जांच के हवाले करें जिससे जनता में ये संदेश जाये कि बच्चों की जान से खिलवाड़ करने वाले लोग कानून के शिकंजे से नहीं बच सकते।
कोरोना महामारी से निपटने के लिए की जा रही तैयारियों को विशेषज्ञों और ईमानदार अधिकारियों की एक उच्चस्तरीय टीम के हवाले किया जाए जिसकी एक एक गतिविधि की मॉनिटरिंग हो।
आम आदमी पार्टी इस मामले को यूं ही नहीं जाने देगी बच्चों की जान से खिलवाड़ को कोई भी जिम्मेदार व्यक्ति बर्दाश्त नहीं कर सकता। यदि इस मामले में उचित कार्रवाई नहीं होती है तो पार्टी पूरे प्रदेश में व्यापक आंदोलन के जरिये घोटालेबाजों को बेनकाब करेगी और इस फर्जीवाड़े को नहीं होने देगी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: