आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने सौंपा सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन

बदायूँ। अखिल भारतीय आंगनबाड़ी कर्मचारी महासभा के निर्धारित कार्यक्रम के तहत मालवीय आवास गृह पर धरना प्रदर्शन किया गया। जिला अध्यक्ष राजेश कुमार सक्सेना ने बताया कि सरकार महिला सशक्तिकरण की बात करती है लेकिन महिलाओं के साथ ही ज्यादा भेदभाव हो रहा है। आंगनवाड़ी बहनों की बात की जाए तो विभाग के अलावा अन्य विभागों के कार्यों भी जबरदस्ती कराये जाते हैं।
उन्होंने कहा एक आंगनवाड़ी कार्यकत्री मात्र 5500 रुपये एवं सहायिका मात्र 2750 रुपये में अपने परिवार का जीवन यापन कैसे करती हैं यह तो आंगनवाड़ी बहन से ही पूछो एक तो मानदेय कम और उस पर भी दो दो तीन तीन महीने बाद आता है मानदेय।
जिला उपाध्यक्ष शोभा वर्मा ने कहा कि संगठन को मजबूत करने के लिए तन मन धन से आंगनबाड़ी बहनों को लगना होगा।
ब्लॉक अध्यक्ष आसफ पुर खजाना देवी ने बताया कि सरकार आंगनवाड़ी बहनों को प्री प्राइमरी की ट्रेनिंग दिला रही है उसमें भी प्रमाण पत्र नहीं दिए जा रहे हैं।
ब्लॉक अध्यक्ष दहगवा शशि रानी सक्सेना ने कहा कि 6 वर्ष तक के लगभग 50% बच्चों के आधार कार्ड नहीं बने हैं ऐसे में सरकार कह रही है कि केवल आधार वालों को ही लाभ दिया जाये जिससे गांव में लड़ाई झगड़े की संभावना बढ़ रही है।
इस लिये पाँच सूत्रीय मांग पत्र मुख्यमंत्री को संबोधित सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपा गया। ज्ञापन देने वालों में खजाना देवी, शोभा वर्मा ,शशि रानी सक्सेना , धनवती शाक्य , अनीता सिंह , मुकीम बेगम, विमला देवी, तारावती, प्रेमलता ,लज्जावती, बृजेश किरण लता, मृदुल भदौरिया, रजनीश शर्मा ,मिथिलेश कुमारी ,निशा सक्सेना ,लिली, रेखा रानी ,विमलेश कुमारी, शीला देवी ,प्रीति शर्मा, पूनम सक्सेना, शोभा रानी ,सुमन राठौर, शंकर देवी ,आशा वर्मा, राजमुंद्री ,सुनीता, रेखा,गीता यादव त्रासा देवी, गायत्री देवी, नीरू माहेश्वरी , भारती रानी ,मीरा ,सरोज, शांति देवी आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: