आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की दूसरे दिन भी हड़ताल जारी

आंगनवाड़ी बहनो को मुख्यमंत्री के वादा निभाने का था इंतजार.. राजेश कुमार सक्सेना

बदायूँ। अखिल भारतीय आंगनवाड़ी कर्मचारी महासभा के बैनर तले आज मालवीय अध्यापक आवास गृह पर दूसरे दिन भी भूख हड़ताल पर आंगनवाड़ी बहने।
बैठी जिला अध्यक्ष राजेश कुमार सक्सेना ने कहा कि आंगनवाड़ी कार्यकत्री व मिनी आंगनवाड़ी कार्यकत्री एवं सहायिका बहनों को योगी जी से इस बजट में बहुत उम्मीद थी कि मुख्यमंत्री अपना वादा निभाएंगे और पंद्रह 1500 रुपये प्रोत्साहन राशि वाले मानदेय के रूप में तोहफा देंगे लेकिन इस अंतिम बजट में भी निराशा ही मिली।
उन्होंने कहा उत्तर प्रदेश सरकार आंगनबाड़ी बहनों से बंधुआ मजदूर की तरह कार्य कराती है। मात्र 2750 रुपये में सहायिका बहने अपना परिवार का गुजारा कैसे करती होंगी यह बात सरकार को सोचनी चाहिए।
खजाना देवी ने बजट को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। शशि रानी सक्सेना ने कहा कि सरकार महिला सशक्तिकरण की बात करती है और सबसे ज्यादा महिलाओं का ही शोषण हो रहा है।
नीरू माहेश्वरी ने कहा कि जब तक हम सभी एकजुट नहीं होंगे तब तक हमें सफलता नहीं मिल सकती है। शीला देवी एवं पुष्पा देवी ने कहा कि संगठन के बल पर सब कुछ संभव है संगठन की मजबूती के लिए तन मन धन से लगना होगा।
मगंलवार को भूख हड़ताल में शशि रानी सक्सेना, पिंकी देवी ,शीला देवी ,पुष्पा देवी ,एवं राजेश कुमार सक्सेना ,खजाना देवी बैठी। संचालन दिनेश यादव ने किया।
इस मौके पर धन देवी, नीरू माहेश्वरी , शशि , पिंकी , भगवान देवी, बबली , द्रोपा , पुष्पा , शीला , सूरजमुखी, मोहिनी शर्मा , सरस्वती, विमलेश, मोनिका , निशा सक्सेना , महेश कुमारी चौहान आदि मौजूद रही।

Leave a Reply

%d bloggers like this: