गाजीपुर बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में राकेश टिकैत के साथ धरना स्थल पर बैठा सहसवान के किसानों का जत्था

बदायूं-सहसवान:-पिछले साल सितंबर के महीने में केन्द्र सरकार की तरफ से संसद से तीन कृषि सुधार संबंधी कानूनों को विपक्ष के कड़े विरोध के बीच पास कराया गया था. इसके बाद से खासकर पंजाब और हरियाणा व उत्तर प्रदेश में इन कानूनों के विरोध में भारी प्रदर्शन देखने को मिल रहा है. दिल्ली की सीमाओं पर पिछले करीब सौ दिन से किसान हजारों की संख्या में एकजुट होकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. इसको लेकर सरकार के साथ किसान नेताओं की अब तक कई दौर की बैठक हो चुकी है, लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकल पाया.
नए कृषि सुधार संबंधी कानूनों की वापसी को लेकर किसानों की तरफ से किए जा रहे विरोध प्रदर्शनों के बीच उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले की तहसील सहसवान से बहुत सारे लोग किसान आंदोलन में राकेश टिकैत के साथ कंधे से कंधा मिलाकर साथ दे रहे हैं और यह मांग की जा रही है केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीनों कृषि कानूनों को वापस लिया जाए गाजीपुर बॉर्डर पर सैकड़ों किसान आंदोलन कर रहे हैं इसी बीच सहसवान से भी लोग उनका साथ दे रहे हैं सहसवान से गाजीपुर बॉर्डर पर सरफराज अली बदर,इसराइल, नत्थू सिंह,कालीचरण, हुकुम सिंह और बहुत सारे साथी सहसवान तहसील से अजहर खान के नेतृत्व में लगातार धरने पर बैठे हुए हैं

Leave a Reply

%d bloggers like this: