सरकार महिला सुरक्षा का ढिंढोरा पीटना बंद करें…..

बदायूं । महिला दिवस के अवसर पर महिला अधिवक्ताओं ने एक गोष्ठी का आयोजन अधिवक्ता नीलम मथुरिया की अध्यक्षता में किया गया।
थाना कोतवाली जिला बदायूं की नाबालिक पीड़िता एवं उसका परिवार भी गोष्टी में शामिल हुआ जिसमें महिला अधिवक्ताओं ने जिले में हो रहे महिला सशक्तिकरण को लेकर सवाल खड़े किए ।
अधिवक्ताओं ने कहा कि देश में महिलाओं के लिए महिला आयोग है, इसी के साथ जिले के राजनैतिक एवं प्रशासनिक उच्च पदों पर महिला आसित हैं, इन सभी के बावजूद अपहरण हुई दलित, नाबालिग पीड़िता को इंसाफ नहीं मिल पा रहा है। अधिवक्ता नीलम मथुरिया ने कहा कि सरकार ने देश में महिला सशक्तिकरण को लेकर बहुत सारे कार्य किए हैं परंतु इसके बावजूद देश में महिला असुरक्षित है आखिर इसकी वजह क्या है?
अधिवक्ता सहला ने सरकार को घेरे में लेते हुए कहा कि सरकार महिला सुरक्षा का ढिंढोरा पीटना बंद करें एवं महिला सुरक्षा को लेकर ठोस कदम उठाएं। अधिवक्ताओं ने कहा हाल ही में आई नवागत डीएम दीपा रंजन एवं जिला सांसद संघमित्रा मौर्य भी महिला है इसलिए महिला होने के नाते सदर कोतवाली की नाबालिग दलित पीड़िता को न्याय दिलाने हेतु ठोस कदम उठाएंगी एवं हम सभी महिला अधिवक्ता न्यायालय में पीड़िता को न्याय एवं दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई कराएंगे। साथ ही महिला अधिवक्ताओं ने कहा पीड़िता एक दलित एवं निर्धन परिवार से ताल्लुक रखती है इसलिए पीड़िता का केस निशुल्क लड़ेंगे । गोस्ठी मे नीलम मथुरिया, आरती राठोर, इमराना, नीलू मिश्रा, सहला नईम, नजमा बी, प्रेरणा शंखधार एवं समीक्षा शर्मा आदि अधिवक्ता शामिल हुई l

Leave a Reply

%d bloggers like this: