न्यू इंडिया से परिचित कराया ।

बदायूं । स्वयंसेविकाओं ने डिजिटल इंडिया व विधिक जागरूकता अभियान चलाकर बस्ती वासियो को न्यू इंडिया से परिचित कराया साथ ही कौशल विकास के द्वारा अपने हुनर को रोजगार में परिवर्तित करने का तरीका बताया, स्वास्थ्य एवं स्वच्छता का महत्व समझाया।
दिनांक 14:03:2021 को कार्यक्रम अधिकारी असि०प्रो०सरला देवी चक्रवर्ती व इति अधिकारी के निर्देशन एवं नेतृत्व में बजरंग नगर मलिन बस्ती व नंगला सैय्यद गंज में चलाएं जा रहें सात दिवसीय विशेष शिविर के छठे दिन गिन्दो देवी महिला महाविद्यालय बदायूं की राष्ट्रीय सेवा योजना प्रथम इकाई स्वयं सेविकाओ ने योग प्रभातफेरी के बाद कार्यक्रम अधिकारी डा.सरला देवी चक्रवर्ती के निर्देशन में बजरंग नगर बस्ती में डिजिटल इंडिया एवं विधिक जागरूकता रैली व लघु नाटिका के माध्यम से डिजिटल व विधिक संस्कृति को अपनाने का संदेश दिया साथ ही कौशल विकास के तरीके सिखाए स्वास्थ्य एवं स्वच्छता का महत्व समझाया। स्वयंसेविकाओ ने दीवार पेंटिंग, नारा लेखन द्वारा स्वच्छता का संदेश दिया। कोविड जागरूक ता अभियान चलाया मास्क वितरित किए। बौध्दिक सत्र में शिविर का शुभारंभ मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित पूर्व स्वयंसेविका कु० कनुप्रिया, डांस एवं संगीत अध्यापिका व प्राचार्य डॉ० गार्गी बुलबुल की संरक्षण में माँ शारदें के समक्ष द्वीप प्रज्वलित कर किया गया। कार्यक्रम का संचालन करते हुए कार्यक्रम अधिकारी प्रोफेसर सरला देवी ने बताया कि डिजिटल इंडिया देश को सशक्त बनाने का एक सफल एवं सार्थक प्रयास है जिसे मा.प्रधानमंत्री मोदी जी ने शुरू किया विधिक जागरूकता आज की जरूरत है विधिक निरक्षर व्यक्ति कानून से भय खाता है और दूर भागता है इसलिए विधिक संस्कृति को बढ़ावा देने कानून निर्माण में लोगों की सहभागिता बनाने के लिए कानून की जानकारी व जागरूकता लाना जरूरी है,परिवार एवं समाज को प्रभावित करने वाले कानूनों विवाह सम्पति व बच्चों के संरक्षक विषयक जानकारी दी। डॉ इति अधिकारी ने बताया कि राष्ट्र को विकास की मुख्यधारा में जोड़ने लिए आप सभी के कुशल नेतृत्व की बहुत आवश्यकता है इसलिए अपने हुनर को पहचानकर देश के विकास में सहभागी बनो। मुख्य वक्ता ने कौशल विकास के तरीकों पर प्रकाश डाला। हस्तशिल्प कला के द्वारा वेस्ट मटीरियल पेपर चूड़ी, बोतल, सुतली से सुंदर सजावटी समान बनाने के तरीके बताए कहा इसी को रोजगार में परिवर्तित किया जा सकता है।स्वयंसेविकाओं ने वेस्ट चीजो का प्रयोग करते हुए सुंदर सुंदर फूलदान, सुतली से गुड़िया, कार्ड से डॉल, कॉटन से गुड्डा, और आकर्षक चीजे बनाई। कार्यक्रम अधिकारी सरला देवी चक्रवर्ती ने बताया कि कार्यक्रम का संचालन कार्यक्रम अधिकारी सरला एवं स्वयंसेविका कु०प्रिया ने संयुक्त रूप से किया। इस अवसर पर कु राजकुमारी, रितिका, सुमन पाल, अंजली सिंह, पूनम यादव, प्रिया, स्नेहा, नेहा बी, प्रियंका,पलक, ज्योती, सोनी बी,दीक्षा,आदि की सराहनीय सहभागिता रहीं। सहायक श्री ओमकार का विशेष सहयोग रहा।कार्यक्रम अधिकारियों ने सभी का आभार व्यक्त कर राष्ट्र गान के साथ शिविर के बौध्दिक सत्र के समापन की घोषणा की गई।

Leave a Reply

%d bloggers like this: