बीएलओ व सुपरवाइजर ने उच्चाधिकारियों के आदेशों की उड़ाई धज्जियां, पात्र लोगो के भी नहीं बनाए वोट

इस्लामनगर। विकास खण्ड क्षेत्र के ग्रामीणों का आरोप है कि हमारे गांव पर तैनात बीएलओ अमरपाल व सुपरवाइजर राजीव कुमार ने जमकर मनमानी की है।बीएलओ व सुपरवाइजर शासन के आदेशों की जमकर धज्जियां उड़ा रहे हैं। एक ओर कहा जाए तो यह लोकतंत्र की हत्या कर रहे हैं। तथा पात्रों के वोट न बनाने के मामले में भारी लापरवाही बरती है साथ ही गलत तरीके से वोट काटे जाने की भी ग्रामीणों ने उच्च अधिकारियों से शिकायतें की हैं। इस्लामनगर विकास खण्ड क्षेत्र की ग्राम पंचायत चंदोई के ग्रामीणों का कहना है कि आदेशानुसार पंचायत पुनरीक्षण वोट बनाने कार्य बीएलओ को सौंपा गया था जिसमें ग्रामीणों ने बताया कि के बीएलओ व पर्यवेक्षक द्वारा ग्रामीणों ने वोट बनवाने के लिए आवेदन दिए थे लेकिन काफी संख्या में पात्र लोगो के वोट ना बढ़ाने व काट दिए जाने की शिकायत जन सुनवाई पोर्टल से लेकर मुख्यमंत्री के लिए रजिस्ट्री व ब्लॉक एवं तहसील मुख्यालय पर की है।ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया कि हम उच्छ अधिकारियों से लापरवाह बीएलओ व सुपरवाइजर की लगातार शिकायतें करते आ रहे है, लेकिन सुपरवाइजर राजीव कुमार व ब्लॉक के अन्य अधिकारी ग्रामीणों को बिना संतुष्ट किए ही फर्जी अख्या रिपोर्ट आईजीआरएस पोर्टल पर लगाकर उच्च अधिकारियों को गुमराह करते आ रहे है।गांव निवासी लईक खान पुत्र वसीर खान ने एसडीएम बिसौली को एक शिकायती पत्र के साथ 45 लोगो के नए वोट बढ़ाने के लिए आधार कार्ड की सत्यापित छायाप्रति दी गई । इसका संज्ञान लेते हुए एसडीएम बिसौली ने कानूनगो व एडीओ पंचायत इस्लामनगर एवम् सुपरवाइजर राजीव कुमार तथा बीएलओ अमरपाल को आदेश दिया कि ग्रामीणों की समस्या का समाधान तत्काल किया जाए लेकिन एसडीएम के आदेश को इन सभी जिम्मेदार अधिकारियों ने हवा में उड़ा दिया और आज तक पात्र लोगो के वोट मतदाता सूची में सम्मलित नहीं हुए ।ग्रामीणों की लगातर शिकायत पहुंचने पर उच्चाधिकारियों ने रविवार को खण्ड विकास अधिकारी व एडीओ पंचायत और सुपरवाइजर समेत 6 लोगो की जांच टीम गांव चंदोई में पहुंची जहां गांव के लोग इक्कठा हुए और जांच टीम ने डोर टू डोर जाकर छूटे वोटरों की जांच की और पात्र लोगो के नाम वोटर लिस्ट में शामिल करने का आश्वाशन दिया वहां मौजूद लोगों ने खूब हंगामा काटा और कहा कि जो लोग इसमें दोषी है उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए। जांच टीम में वीडियो प्रभारी अशोक कुमार शर्मा, सचिव राजीव कुमार जांचकर्ता, गजेंद्र सिंह एडीओ पंचायत, रत्नाकर यादव, रविंद्र, आस मोहम्मद जांच टीम में मौजूद रहे। वहां मौजुद सुपरवाइजर राजीव कुमार से पूंछा गया कि आपने फर्जी रिपोर्ट आइजीआरएस पोर्टल से लेकर उच्च अधिकारियों को किसके कहने पर भेजी थी तो उन्होंने बताया कि मुझसे बीएलओ अमरपाल ने कहा कि जिन लोगो के वोट बनने से रह गए थे उन लोगो के वोट मतदाता सूची में जोड़ दिए गए है उसी के आधार पर मैने उच्च अधिकारियों को आख्या रिपोर्ट भेजी। नत्थू मौर्य,पूर्व प्रधान विपिन कुमार सिंह,हबीब खान, लईक खान,बब्बू खान समेत सैकड़ों ग्रामीण मौजूद रहे। अब देखना यह है इस फर्जीवाड़े को लेकर उच्च अधिकारी क्या कार्रवाई करते हैं या इस जांच को ठंडे बस्ते में ही डाल दिया जाएगा। मामले में वीडियो प्रभारी अशोक कुमार शर्मा ने बताया कि शिकायतकर्ताओं की जांच पर शिकायत सही पाई गई जिसमें किसी के बोट मतदाता सूची में नहीं जोड़े गए।
रिपोर्ट। रनजीत कुमार

Leave a Reply

%d bloggers like this: