युवा मंच संगठन ने उठाई आवाज पुरातत्व विभाग के द्वारा घोषित लगभग 2000 साल प्राचीन बुद्ध जैन की मूर्तियों वाले देवस्थान ग्राम खेडाजलापुर मे कब्ज़ा करने वालों पर पुलिस एवं प्रशासन मौन।

फोटो : प्राचीन मूर्तियों के अवशेष अंदाजन बुद्ध जैन की मूर्तियों l

युवा मंच संगठन आगे आया प्राचीन धरोहर को बचाने के लिये बदायूं जनपद के उसहैत क्षेत्र के ग्राम खेड़ाजलालपुर में एक प्राचीन देव स्थान हैं जिसमे असंख्य बौद्ध – जैन की मूर्तियों हैं और प्राचीन भाषा में अपठिनीय शिला लेख हैं जिस जगह पर कब्ज़ा करा जा रहा हैं ज़ब इसका पता पुरातत्व विभाग की टीम को लगा तो टीम ने मौक़े पर जाकर इस इसका संज्ञान लिये और खुदाई के आदेश दिये हैं l पुरातत्व विभाग ने मंदिर देव स्थान को जांच करने के उपरांत लगभग 2000 वर्ष पूर्व का बताया हैं, इस मंदिर पर प्रतिवर्ष हवन यज्ञ होता रहा है इस बार कीर्तन कराने के लिए पंडाल लगाने जा रहे थे स्थानीय लोगो ने बताया की इस प्राचीन स्थल में शिवलिंग खुदाई के समय निकली जो वहां के दो-तीन लोगों ने मूर्ति नीचे से उठाकर आपत्तिजनक स्थिति में ऊपर रख दी, पुरातत्व विभाग मेरठ से टीम जांच करके ले गई है और खुदाई का भी आदेश पर निर्णय होना हैं l

युवा मंच संगठन के अध्यक्ष ध्रुव देव गुप्ता ने कहा की दबंग लोग के द्वारा बौद्ध जैन की मूर्तियों के अवशेष के देव स्थान पर कब्ज़े की नियत से निर्माण करना चाहते हैं जिसकी शिकायत आला अधिकारियो की गयी और पुलिस को की गयी लेकिन इस पर नेतागर्दी के चलते कुछ हो ना सका और अब पुनः देव स्थान पर दबँगो ने कब्ज़ा किया हुआ हैं और उसहैत पुलिस मौन l कहा जाता हैं की देव स्थान पर कब्ज़ा करने वालों का तो नाश होता ही हैं लेकिन जो लोग इस जघन्य अपराध को हो होते हुये देखते रहते हैं वे अनजाने में पाप के भागी बनते हैं,
देव स्थान पर कब्जे से पुरे गांव में तनाव पूर्ण माहौल हैं और कभी भी बड़ा बलवा दंगा इत्यादि होने से बड़े दुर्घटना होने की आशंका हैं जिस पर प्रशासन पूर्ण रूप से मौन हैं l मंदिर की जगह पर कब्ज़ा होने से ग्राम के अंदर अलग अलग गुट बन गये हैं और बहुत तनाव बना हुआ हैं लेकिन पुलिस और प्रशासन पूर्ण रूप से मौन धारण करे बैठा हैं इस प्रकरण पर त्वरित कार्यवाही होनी परम् आवश्यक हैं अन्यथा लोगो का प्रशासन व जनप्रतिनिधियों से भरोसा उठ जाएगा ज़ब देव स्थान सुरक्षित नहीं हैं तो सुरक्षित क्या हैं नेतागर्दी इतने निचले स्तर तक गिर चुकी हैं जो इस तरह के कार्य होने दे रही हैं l

Leave a Reply

%d bloggers like this: