दो पक्षों के विवाद को लेकर प्रशासनिक अधिकारी का गांव में दौरा

प्रशासनिक अधिकारियों ने गाँव में पहुँच कर दो पक्षों का विवाद को लेकर समझौता पत्र लिखित लेते हुए निपटारा मौके पर करवाया।

दातागंज बदायूँ- आप को बता दे कि मामला बदायूँ जिले की तहसील दातागंज के ब्लाक समरेर के नवदिया गांव का है प्रशासन को सूचना मिली कि बाल्मीक समाज एवं यादव समाज के दोनो पड़ोसियो में निकास एवं अवैध निर्माण सम्बंधित विवाद होता आ रहा है जिसके चलते काफ़ी बार दातागंज कोतवाली की चौकी समरेर पुलिस व पी आर वी 112 भी कई बार जा चुकी है। वही मौके पर पहुँचे उपजिलाधिकारी दातागंज रामशिरोमणि व पुलिस उपाधीक्षक प्रेम कुमार सिंह थापा एवं कोतवाली प्रभारी निरीक्षक बीरपाल सिंह तोमर सहित लेखपाल व उनकी टीम गांव में मौके पर पहुची , जहाँ मौजूद बाल्मीक समाज के धीरपाल पुत्र प्यारे ने बताया कि रामसिंह पुत्र केसरी यादव जो कि आए दिन हमसे विवाद करते रहते है रामसिंह के भाई ने रामसिंह का हमारी तरफ का रास्ता बंद कर दिया है क्योंकि रामसिंह यादव ने भी अपने भाई के दूसरी तरफ का रास्ता बंद कर दिया था , अब रामसिंह यादव ने अपने घर के पीछे से हमारी तरह से रास्ता रखा है जहाँ रास्ता कच्चा है हम को इनके निकलने बैठने को लेकर कोई शिकायत नही थी वही रामसिंह यादव ने गत दिनों से लड़ाई करना शुरू कर दिया हमारे घर न होने पर इन्होंने हमारी तरफ गाय भैस की चन्नी बना ली साथ ही अब हमारे तरफ के अपने पीछे के रास्ते में नीव भरने का रामसिंह ने चुप चाप कार्य करवाया , हमारे द्वारा फोन के मध्यम से सी० ओ० प्रेम कुमार सिंह थापा को सूचना दी गई जिसके कुछ समय में ही कोतवाली इंस्पेक्टर बीरपाल सिंह तोमर ने मौके पर आ कर कार्य को रुकवा दिया था लेकिन दिन सोमवार देर रात को रामसिंह व इनके घर के लोगो मे हमारे बंद जनवरों के छप्पर में आग लगा दी जिससे जानवरों को नुकसान पहुँचा वह जल गए है। जिसको सुनकर गांव में मौजूद उपजिलाधिकारी दातागंज रामशिरोमणि व सी०ओ० प्रेम कुमार सिंह थापा ने कोतवाली प्रभारी निरीक्षक को निर्देशित करते हुए कहा कि बाल्मीक समाज के लोगों के तरफ से तहरीर ले लो, निष्पक्षता से जांच कर कड़ी कार्यवाही करें , साथ ही मौजूद लोगों से कहा कि माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के निर्देशन में किसी भी गरीब व किसी समाज के लोगों को न्याय के लिए भटकना नही पड़ेगा , हमने यहाँ सिविल ड्रेस में पुलिसकर्मियों को नियुक्त कर दिया है। साथ ही रामसिंह यादव पुत्र केसरी यादव को 30 नवम्बर तक समय दिया गया है तय समय के अंदर मे गाय भैस की चन्नी व पीछे के अवैध निर्माण का रास्ता जो कि अभी यह स्वयं उखाड़ रहे है यह पूरा अवैध निर्माण 30 नवम्बर तक हटा लेगे, न हटाने पर रामसिंह यादव पुत्र केसरी यादव के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए जेल भेज दिया जाएगा। वही दोनो पक्षों ने समझौता पत्र देते हुए हस्ताक्षर करते हुए मोबाइल नंबर सहित लिखित दिया। वही समझौता पत्र में भीम आर्मी के पदाधिकारी विकास बाबू ने भी हस्ताक्षर किये है।

रिपोर्ट – अभिषेक वर्मा, संवाददाता

Leave a Reply

%d bloggers like this: