कोरोना से अनाथ हुए बच्चों को वितरित किए गए स्वीकृति पत्र - Latest News & Updates - Rohilkhand Prabhat News

कोरोना से अनाथ हुए बच्चों को वितरित किए गए स्वीकृति पत्र

Spread the love


बदायूँ: 22 जुलाई। राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल तथा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा प्रदेश में कोविड-19 महामारी के कारण अनाथ हुए बच्चों के भरण-पोषण, शिक्षा, चिकित्सा आदि की व्यवस्था हेतु गुरुवार को ‘उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना’ प्रारम्भ की गई।
कलेक्ट्रेट स्थित सभागार में कार्यक्रम का सजीव प्रसारण एलईडी के माध्यम से दिखाया गया। इसी क्रम में जिलाधिकारी दीपा रंजन, बिसौली विधायक कुसाग्र सागर, भाजपा जिलाध्यक्ष अशोक भारतीय, जिला प्रोबेशन अधिकारी संतोष कुमार ने कोविड-19 महामारी के कारण अनाथ हुए बच्चों के भरण-पोषण, शिक्षा, चिकित्सा आदि की व्यवस्था हेतु 11 बच्चों को 3-3 माह के लिए 12-12 हजार रुपए के स्वीकृति पत्र वितरित किए।
डीएम ने कहा कि शून्य से 18 वर्ष की आयु के बच्चे जिनके माता या पिता अथवा दोनों की कोविड-19 संक्रमण के कारण मृत्यु हो गयी है, उन्हें ‘उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना’ के तहत 04 हजार रुपए प्रतिमाह प्रदान किए जा रहे हैं। इस योजना के तहत 11 से 18 वर्ष तक की आयु के बच्चों की निःशुल्क शिक्षा, अटल आवासीय विद्यालयों तथा कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों में करायी जाएगी। प्रदेश सरकार ऐसी अनाथ बालिकाओं के विवाह योग्य होने पर उनकी शादी हेतु 01 लाख 01 हजार रुपए उपलब्ध कराएगी। कक्षा 9 या इससे ऊपर की कक्षा में अथवा व्यावसायिक शिक्षा प्राप्त कर रहे 18 वर्ष आयु तक के ऐसे बच्चों को टैबलेट अथवा लैपटॉप की सुविधा उपलब्ध करायी जाएगी।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *