झोलाछाप डॉक्टर नर्सिंग होम बनाकर बैठे हैं कर रहे मौत का धंधा डिलीवरी से लेकर सर्जरी तक होती है।

जरीफनगर से शिव यादव की रिपोर्ट

बदायूं जनपद के कस्बा सहसवान कोतवाली क्षेत्र कस्बा व ग्रामीण क्षेत्र के अंतर्गत जैसे कि भवानीपुर, बाजपुर, शाहापुर ताल खेड़ा ,हिंडोल ,नदायिल ,धुरनपुर ,उस्मानपुर थाना जरीफनगर क्षेत्र में इस कदर खोल रखे झोलाछाप डॉक्टरों ने नर्सिंग होम झोलाछाप डॉक्टरों के चल रहे।नर्सिंग होम स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते झोलाछाप लोगों को स्वस्थ करने के बजाय उनको मौत के मुंह में ढकेल रहे हैं। इस तरह की घटनाएं पहले भी कई बार हो चुकी हैं। सहसवान शहर के और देहात उस्मानपुर में झोलाछापों ने खुद को डॉक्टर घोषित कर रखा है। इनमें से कुछ बिना डिग्री के डॉक्टर हैं।तो कुछ अवैध डिग्रियों वाले। यह कथित डॉक्टर हर मर्ज के इलाज की गारंटी लेते हैं।और जब केस बिगड़ जाता है।तो फिर हाथ खड़े कर देते हैं। कुछ मरीज इन झोलाछापों के इलाज से मौत के मुंह में समा चुके हैं।तो कुछ की हालत बिगड़ चुकी है। कई बार जमकर हंगामा भी हुआ है। इन झोलाछापों पर स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते अंकुश नहीं लग पा रहा।डिलीवरी से लेकर सर्जरी तक होती है।
झोलाछापों के यहां यह झोलाछाप महज उल्टी-दस्त, बुखार का ही इलाज नहीं करते बल्कि गुपचुप तरीके से अपने बड़े-बडे़ नर्सिंग होम तक खोल रखे हैं। वहां ऑपरेशन तक की व्यवस्था हो जाती है। डिलीवरी से लेकर सर्जरी तक झोलाछापों के नर्सिंगहोम में हो जाती है। यही नहीं कुछ झोलाछाप और ज्यादा शातिर दिमाग से काम कर रहे हैं। झोलाछाप ने अपने क्लीनिकों व नर्सिंगहोम के बाहर डिग्रीधारक डॉक्टरों के बोर्ड लगवा रखे हैं। यह डिग्रीधारक डॉक्टर तो वहां आते नहीं है। ऐसे में नर्सिंगहोम का पूरा काम यही झोलाछाप करते हैं। इन नर्सिंगहोम पर स्वास्थ्य अधिकारी भी नहीं जाते। क्या ऐसे ही चलता रहेगा देखना यह है कि खबर प्रकाशित करने के बाद झोलाछाप डॉक्टरों के क्लीनिक पर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कब करेंगे कार्रवाई कब पड़ेगा झोलाछाप डॉक्टरों के क्लीनिक व नर्सिंग होम पर छापा क्या ऐसे ही चलता रहेगा स्वास्थ्य विभाग सोता रहेगा कुंभकरण की नींद। गरीबों के बच्चा ब गरीबों पर खेल रहे झोलाछाप डॉक्टर मौत का खेल।

Leave a Reply

%d bloggers like this: