आंवला सांसद की अध्यक्षता में दिशा की बैठक सम्पन्न


बदायूँ: 13 सितम्बर। बिजली विभाग द्वारा फोन न उठाने, शिकायत का निस्तारण समय से न करने, प्राईवेट कार्मिकों द्वारा बिना पैसे के कार्य करने सहित बिजली  विभाग के सम्बंध में विभिन्न शिकायतें दिशा की बैठक में जनप्रतिनिधियों द्वारा की गई। इस लापरवाही को देखते हुए अध्यक्ष ने कड़े निर्देश दिए कि बिजली विभाग अपनी कार्यशैली में बदलाव लाए, निर्धारित समय से बिजली मुहैया कराए, अन्यथा कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।
आंवला सांसद धर्मेंन्द्र कश्यप की अध्यक्षा में नगर विकास राज्यमंत्री महेश चन्द्र गुप्ता, जिलाधिकारी दीपा रंजन, बिल्सी विधायक आरके शर्मा, दातागंज विधायक राजीव कुमार सिंह, शेखूपुर विधायक धर्मेन्द्र शाक्य, बिसौली विधायक कुशाग्र सागर, मुख्य विकास अधिकारी निशा अनंत, नगर पालिका परिषद बदायूँ की चेयरमैन दीपमाला गोयल, नगर पालिका परिषद दातागंज के चेयरमैन आकाश वर्मा, जिला स्तरीय अधिकारीगण, जनपद के ब्लाॅक प्रमुखों व अन्य जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में जिला विकास समन्वय एवं अनुश्रवण समिति (दिशा) की बैठक विकास भवन स्थित सभागार में आयोजित हुई।
बैठक में पिछली बैठक में दिए गए निर्देशों पर समीक्षा की गई। अध्यक्ष ने मनरेगा में कार्य अच्छा होने पर डीसी मनरेगा रामसागर यादव को बधाई देते हुए उनकी प्रशंसा की। उन्होंने निर्देश दिए कि मनरेगा श्रमिकों के लम्वित भुगतान को अतिशीघ्र पूर्ण कराएं। महिला उत्थान के लिए संचालित राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन योजना के सम्बंध में जिला विकास अधिकारी चन्द्र शेखर ने अवगत कराया कि जनपद में 1600 स्वयं सहायता समूह, 7 सरस हाट एवं 3 विलेज हाट सक्रिय होकर कार्य कर रहें हैं, जिनमें महिलाओं द्वारा निर्मित उत्पादों का विक्रय किया जा रहा है। अध्यक्ष ने इन्हें निरंतर चलाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को जिन सामुदायिक शौचालयों की जिम्मेदारी दी गई है। उनमें ताले नहीं लगा होना चाहिए, इसके अलावा सभी सामुदायिक शौचालय खुले रहे। सभी प्रकार की पेंशन व योजनाओं के पात्र लाभार्थिेयों का सत्यापन कराकर योजना का लाभ उपलब्ध कराया जाए। स्वच्छ भारत मिशन की द्वितीय किश्त जल्द लाभार्थियों के खाते में उपलब्ध कराई जाए। सभी प्रकार की स्वस्थ्य सेवाएं सक्रिय रहें। निरंतर स्वास्थ्य कैम्प के आयोजन होते रहे। सभी का कोविड-19 से बचाव के लिए टीकाकरण किया जाए। बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि स्कूल ड्रेस में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी, बच्चों को गुणवत्तापूर्वक बनाई गई स्कूल डेªस ही उपलब्ध कराएं। अध्यक्ष ने डीएम को निर्देश दिए हैं कि तीन वर्ष से अधिक एक स्थान पर तैनात अधिकारी एवं कर्मचारियों का स्थानांतरण करें।
अंत में अध्यक्ष ने निर्देश दिए कि सरकार द्वारा संचालित महत्वांकाक्षी योजनाओं का लाभ पात्र लाभार्थियों को समय से उपलब्ध कराया जाए। अधिकारी इस बैठक को गंभीरता से लें, किसी भी प्रकार की लापरवाही न होने पाए।

Leave a Reply

%d bloggers like this: