सृजन की भावना से ओत-प्रोत रहना हमें आगे बढ़ना सिखाता है:-डॉ .शुभ्रा माहेश्वरी

बदायूँ-डी पी स्नातकोत्तर महाविद्यालय सहसवान में गृहविज्ञान विभाग एवं मिशन शक्ति तृतीय चरण के संयुक्त तत्वावधान में क्राफ्ट प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें केवल छात्राओं ने ही नहीं छात्रों ने भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। कार्यक्रम का शुभारंभ डायरेक्टर श्री एम. के. सोलंकी, प्राचार्या डॉ .शुभ्रा माहेश्वरीएवं चीफ प्राक्टर डॉ. मुकेश राघव के करकमलों द्वारा हुआ।कु ॠतु सिंह प्रवक्ता ( गृहविज्ञान) एवं कु सना साजिद प्रवक्ता (भूगोल)के निर्देशन में छात्र-छात्राओं ने व्यर्थ जाने वाली वस्तुओं से सुंदर व उपयोगी वस्तुओं का निर्माण किया। प्राचार्या डॉ शुभ्रा माहेश्वरी ने छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा-” सृजन की भावना से ओत-प्रोत रहना हमें आगे बढ़ना सिखाता है ।हम अपने घर पर फेंके जाने वाले सामान का प्रयोग कैसे करते हैं यह उपयोगी है।” कु ॠतु सिंह ने छात्राओं को बताया कि आपकी उपलब्धि ही दूसरे की प्रेरणा है।
निर्णायक मंडल में कु सना,श्री मती गुलनार (समाजशास्त्र), श्री दिव्यांश सक्सेना प्रवक्ता (अंग्रेजी ) ने अपने निर्णय द्वारा छात्रों को प्रोत्साहन दिया।कु तृप्ति सक्सेना (प्रवक्ता ) , श्री भूपेन्द्र प्रवक्ता (गणित)श्री वैभव तोमर (कार्यालय विभाग)कु कविता (फिजिक्स) , श्री नितिन माहेश्वरी (बाटनी)का भी सहयोग व प्रोत्साहन रहा। डॉ मुकेश राघव व डॉ एम के सोलंकी ने
छात्राओं की सृजनात्मक रुचि की भूरि भूरि प्रशंसा की।
प्रथम स्थान- छात्र रतन,(एम. ए प्रथम वर्ष, भूगोल)
द्वितीय स्थान -मदीहा रहमान , जयललिता( बी. ए प्रथम वर्ष)
तृतीय स्थान- नेहा ठाकुर (बी .ए द्वितीय वर्ष,) सबा बी (बीए प्रथम वर्ष)
प्रतिभागी अन्य छात्राओं में कु अर्शीन ,नीलम, आरती,जहाना, शिखा,फारेहा रहमान, अंजलि, आयशा रजी,नीहारिका, सोनाली,यशी, मौहम्मद अकरम सहित 20 छात्र छात्राओं ने प्रतिभागिता की ।
जिसमें मुख्य आकर्षण इंडिया गेट , सहसवान का प्रसिद्ध स्थल कोट, बॉक्स,शो पीस, टेबिल लैंप,की स्टैंड,विंड चाइम्स,फ्लाबर पाट, मोबाइल स्टैंड, फोटो फ्रेम, ड्रेसिंग टेबल आदि रहे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: