आंगनबाड़ी केंद्र पर घुमंतू परिवार का कब्जा दूसरा आंगनबाड़ी केंद्र रहता है बंद घरों में बैठकर होता है पुष्टाहार का वितरण

लाभार्थियों ने बाल पुष्टाहार वितरण में लगाया‌ धांधली करने का आरोप
जमकर हुआ बबाल

बदायूँ ब्यूरो की रिपोर्ट

बदायूँ:-कुंवर गांव । उत्तर प्रदेश सरकार छोटे बच्चों व गर्भवती महिलाओं को सूखा राशन उपलब्ध करा रही जिसके लिए बाल पुष्टाहार योजना चलाई जा रही ।जिसको गांव में बैठी आंगनबाड़ी समूह महिलाएं राशन डकारने में लगी है ।
मामला सलारपुर ब्लाक क्षेत्र के गांव यूसुफ नगर का है जहां दो आंगनवाड़ी केन्द्र हैं वह कभी खुलते ही नहीं और इतना ही नहीं एक आंगनवाड़ी केन्द्र पर घुमंतू परिवार (बाज) ने कब्जा कर जिसमें वह परिवार के साथ रह रहा है और दूसरी आंगनवाड़ी केन्द्र अभी खुलता ही नहीं जबकि उत्तर प्रदेश सरकार ने जनवरी से सभी आंगनबाड़ी केंद्रों नियमानुसार खोलने के आदेश कर लिए जो एक प्रकार से हवा हवाई साबित होने लगें हैं ।
बच्चों में बंटने वाला राशन समूह की महिलाएं अपने घरों में बैठकर वितरण कर रही हैं मामला यूसुफ नगर का है जहां एक केन्द्र का राशन मंगलवार को उच्च प्राथमिक विद्यालय पर वितरण हो रहा था जहां राशन वितरण में धांधली को लेकर जमकर बबाल हुआ । जहां लाभार्थियों के द्वारा बच्चों को कम राशन देने के आरोप लगाए गए ।जिसके बाद वहां वितरण बंद हो गया जिसके बाद उसी केंद्र का राशन बुधवार को एक समूह की महिला के घर वितरण हो रहा था जहां कुछ लाभार्थी दूसरे केंद्र के भी राशन लेने पहुंच गए जहां बच्चों का राशन का लेने गई महिलाओं राशन न देने की बात को लेकर समूह की महिला से जमकर नोंक-झोंक हुई ।जब महिलाओं ने इसका वीडियो बनाना चाहा तो समूह की महिला ने मोबाइल छीनने की कोशिश की और वीडियो नहीं बनाने दी । और कहा कि तुम दूसरे केंद्र वालों से राशन लो जाकर तुम हमारे अधिकार क्षेत्र में नहीं आते हो ।जबकि एक केन्द्र के राशन वितरण होने का कोई पता ही नहीं चल रहा है राशन वितरण हुआ है या नहीं ।मानक के अनुसार वितरण नहीं किया जा रहा है किसी को दलिया दे दिया तो किसी को दाल दे दी किसी को घी दिया ही नहीं । सूत्रों के मुताबिक पता चला है आंगनवाड़ी कहती हैं कि हमको प्रति माह दाल बेचकर सीडीपीओ को एक हजार रुपए देने पड़ते हैं ।इस तरह हम पूरा वितरण कैसे करें । सीडीपीओ प्रति माह लगे रहते हैं आंगनवाड़ियों से रुपए ऐंठने में आंगनबाड़ी और समूह की महिलाएं गांव में करती रहती हैं वितरण में धांधली ।

इस संबंध सीडीपीओ देवेंद्र सिंह से बात करना चाही तो उन्होंने कोई जबाब देने से मना कर दिया और फोन काट दिया।

Leave a Reply

%d bloggers like this: