मध्यान भोजन रसोईया कर्मी खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय का करेंगे घेराव : डॉ. प्रेमपाल - Latest News & Updates - Rohilkhand Prabhat News

मध्यान भोजन रसोईया कर्मी खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय का करेंगे घेराव : डॉ. प्रेमपाल

Spread the love

राष्ट्रीय मध्यान भोजन रसोईया कर्मी वेलफेयर एसोसिएशन शाखा वजीरगंज जनपद बदायूं के द्वारा पूर्व निर्धारित स्थान खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय विकास क्षेत्र वजीरगंज जनपद बदायूं का घेराव कर अपनी प्रमुख मांगों से विभागीय अधिकारियों को अवगत कराई जाएंगी।
जिसमें प्रमुख मांगे निम्न प्रकार है अगस्त 2020 से वर्तमान समय तक मानदेय का विभाग द्वारा भुगतान नहीं हुआ है
शीघ्र विभाग निराकरण कराएं अन्यथा की स्थिति में सभी रसोईया कर्मी धरना प्रदर्शन के लिए विवस होंगे जिसकी पूरी जिम्मेदारी विभाग व शासन प्रशासन की होगी।
बैठक में बोलते हुए समिति के जिला सह संयोजक श्री संचित सक्सेना ने बताया कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सरकारी व अर्द्ध सरकारी प्राइमरी स्कूलों मे मिड-डे मील (MDM) बनाने वाले रसोइयों के पक्ष में ऐतिहासिक फैसला देते हुए सभी रसोइयों को न्यूनतम वेतन का भुगतान करने का निर्देश सरकार को दिया है. रसोइयों से एक – डेढ़ हजार रूपये वेतन देने को कोर्ट ने माना कि सरकार रसोइयों से बंधुआ मजदूरी करा रही है । जिसे संविधान के अनुच्छेद 23 में प्रतिबंधित किया गया है।
बैठक ब्लॉक संयोजक राजवती में मौजूद बताया कि हाईकोर्ट ने कहा है कि सरकार न्यूनतम वेतन से कम वेतन नहीं दे सकती. यह महत्वपूर्ण फैसला न्यायमूर्ति पंकज भाटिया ने रसोइया चंद्रावती देवी की याचिका को स्वीकार करते हुए 15 दिसंबर को दिया है. कोर्ट ने केंद्र व राज्य सरकार को निर्देश दिया है कि मिड-डे-मील बनाने वाले प्रदेश के सभी रसोइयों को न्यूनतम वेतन अधिनियम के तहत निर्धारित न्यूनतम वेतन का भुगतान सुनिश्चित करे. कोर्ट ने सभी जिलाधिकारियों को इस आदेश पर अमल करते हुए सभी रसोइयों को न्यूनतम वेतन का भुगतान करने का निर्देश दिया है. और केंद्र व राज्य सरकार को चार माह के भीतर न्यूनतम वेतन तय कर 2005 से अब तक सभी रसोइयों को वेतन अंतर के बकाये का निर्धारण करने का आदेश दिया है.
बैठक में ब्लॉक महासचिव संगीता ने कहा कि हाईकोर्ट के आदेश को लागू कराने को हर रसोइया जिलाधिकारी को पत्र देंगी। हर रसोइया को प्रतिदिन 415 रूपये वेतन मिलेगा और 15 साल का बकाया भी मिलेगा।
ब्लॉक उपाध्यक्ष जसोदा ने कहा कि हाईकोर्ट के आदेश से रसोइयों की जिन्दगी बदल जाएगी। उन्होंने सभी रसोइयों से संगठन में शामिल होकर संघर्ष आगे बढ़ाने की अपील की है।
कार्यक्रम में ब्लॉक सह संयोजक मोहनलाल, संगीता, राजपाल, रजनीश, रेखा, शीला, कांति, भूरी, तुलसी, कन्यावती, सीमा, पिंकी, कुसमा, गंगा देवी, भगवान देवी, सर्वेषा, सुषमा, बिमला, राधा, मोरकली, मुन्नी देवी, राम दुलारी, सरस्वती, विठोला देवी, रामवती, सोमवती, शरबती पिंकी, मधुबाला समेत दर्जनों रसोइया मौजूद रहीं।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *