हुनर को निखारकर ही पहचान बना सकते हैं : सरला चक्रवर्ती । - Latest News & Updates - Rohilkhand Prabhat News

हुनर को निखारकर ही पहचान बना सकते हैं : सरला चक्रवर्ती ।

Spread the love

स्वयंसेवीकाओं ने चलाया कौशल विकास रोजगार सृजन एवं पोषण व कोविड-19  जनजागरूकता अभियान ।

गिन्दो देवी महिला महाविद्यालय बदायूं में राष्ट्रीय सेवा योजना प्रथम व द्वितीय इकाई के तत्वावधान में चतुर्थ एक दिवसीय शिविर आयोजित
विषय -कौशल विकास रोजगार सृजन एवं पोषण व कोविड-19 जनजागरूकता अभियान
आज दिनांक 25/03/2021को गिन्दो देवी महिला महाविद्यालय बदायूं में विश्वविद्यालय द्वारा संचालित राष्ट्रीय सेवा योजना प्रथम व द्वितीय इकाई के तत्वावधान में चतुर्थ एक दिवसीय शिविर कौशल विकास रोजगार सृजन एवं पोषण व कोविड जनजागरुकता अभियान को समर्पित रहा। कार्यक्रम अधिकारी असिस्टेंट प्रोफेसर सरला देवी चक्रवर्ती के निर्देशन एवं नेतृत्व में एवं डॉ शुभ्रा माहेश्वरी के सहयोग सहित प्रथम सत्र में स्वयंसेविकाएं अपने कार्य स्थल बजरंग नगर व नगला सैय्यद गंज मे रैली निकालकर डोर टू डोर जनसंपर्क द्वारा मलिन बस्ती में लोंगो को पोषण एवं कोविड के लिए सतर्कता बरतने व वैक्सीन लगवाने हेतु जनजागरुकता फैलायी। पोस्टर द्वारा लोगों को बताया सोशल डिस्टेसिंग का पालन करें। साथ ही मास्क वितरित कर लोगों को मास्क लगाने हेतु प्रेरित किया। साथ ही अपने हुनर को ही रोजगार में परिवर्तित करने का तरीका बताया।
कार्यक्रम अधिकारी श्री मती सरला चक्रवर्ती ने कहा -” हमें अपने हुनर को निखारना होगा , तभी हम अपनी महचान बना सकते हैं और आत्मनिर्भर बन सकते हैं।” कोरोना महामारी के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए राज्य सरकार की गाइड लाइन का पालन करने के लिए प्रेरित किया।
डॉ शुभ्रा माहेश्वरी ने कौशल कला को निखारने हेतु कहा कि हम सक्षम होंगे तो हम अपना पढ़ाई का खर्च सहित जरुरते पूरी कर पायेंगे। ” द्वितीय बौद्बिक सत्र में प्राचार्या डॉ गार्गी बुलबुल व मुख्य अतिथि श्री मती ममता सक्सेना , सरला चक्रवर्ती ने मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर शिविर का शुभारंभ किया। प्राचार्या डॉ गार्गी बुलबुल ने अपने वक्तव्य में छात्राओं को कोविड-19 सुरक्षा करने हेतु अनुपालन करने को कहा।छात्राओं में कु सुषमा, सुमन पाल स्नेहा ,मेघा ,राजकुमारी आदि ने सरस्वती वंदना तथा अंजली शर्मा एवं लवली ने स्वागत गान प्रस्तुत किया कुमारी दीक्षा यादव ने कौशल विकास पर अपने बहुत ही सुंदर विचार रखें कुमारी पलक वर्मा ने कविता द्वारा लोगों कोरोना से सुरक्षा के उपाय बताएं। मुख्य अतिथि श्रीमती ममता सक्सेना ने कौशल विकास के माध्यम हेतु रोजगार सृजन के उपाय व सरकार द्वारा आत्मनिर्भर बनने की योजनाओं को विस्तार से बताते हुए कहा आप सभी अपने हुनर को निकाली है तभी आप आत्मनिर्भर बन पायेंगे। कार्यक्रम में श्री मती वीना राठौर व प्रेमलता प्रेमलता ने भी विचार व्यक्त किए। वैस्ट वालिंटियर ऑफ द ईयर कुमारी मेघा पटेल एवं अंजली शर्मा को चुना गया एवं उनके कार्यों की सराहना करते हुए उन्हें पुरस्कृत भी किया गया। स्लोगन प्रतियोगिता आयोजित की गई जिसमें कोविड-19 एवं कौशल विकास से संबंधित नारों के द्वारा बच्चों ने बहुत ही सुंदर बस सटीक उदाहरण लिखें। जिसमें अंजली शर्मा प्रथम दीक्षा यादव द्वितीय प्रियंका तृतीय रहीं। चतुर्थ श्रेणी श्री ओमकार का सहयोग रहा। स्वयं सेविकाओं में कुमारी राजकुमारी सुषमा, लवली रूबी किरण पूजा अंजली सिंह आदि किस सक्रिय सहभागिता रही। शिविर का संचालन कार्यक्रम अधिकारी सरला देवी एवं डॉ०शुभ्रा माहेश्वरी व स्वयंसेविका पलक वर्मा ने संयुक्त रूप से किया। अंत में सभी का आभार व्यक्त करते हुए राष्ट्रीय गान के साथ शिविर का समापन हुआ ।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *