स्वस्थ काया है मनुष्य की शक्ति

बदायूं । गिंदो देवी महिला महा विद्यालय में द्वितीय एक दिवसीय शिविर का आयोजन किया गया।
प्राचार्या डॉक्टर गार्गी बुलबुल के संरक्षण में व डॉक्टर सरला चक्रवर्ती राष्ट्रीय सेवा योजना प्रथम इकाई तथा डॉ सुमन सिंह कार्यक्रम अधिकारी द्वितीय इकाई के निर्देशन में स्वास्थ्य एवं स्वच्छता पर स्वयं सेविकाओं के द्वारा गिंदो देवी महिला महाविद्यालय बदायूं से अपने-अपने कार्यक्रम स्थल बजरंग नगर व नगला सैयद गंज बस्ती में जाकर रैली निकालकर स्वास्थ्य एवं स्वच्छता पर लोगों को जानकारी देकर जागरूक करने का कार्य किया। स्वयंसेविकाओ ने लोगों को बताया कि सबसे पहले व्यक्ति को खुद अपनी स्वच्छता पर ध्यान रखना चाहिए जिससे उनके स्वास्थ्य पर सही प्रभाव पड़ता है, इसके उपरांत अपने घर में विशेष तौर पर शौचालय को बहुत साफ सुथरा रखना चाहिए और अपने घर के आसपास के वातावरण को स्वच्छ रखना चाहिए घर के बाहर नालियों में सफाई का विशेष प्रबंध रखना चाहिए।
बौद्धिक सत्र की शुरुआत प्राचार्या डॉक्टर गार्गी बुलबुल के द्वारा सरस्वती पूजन करवा कर आरंभ किया गया। स्वयं सेवकों ने सरस्वती वंदन व लक्ष्य गीत सुनाया। मुख्य अतिथि के रूप में प्राचार्या डॉक्टर गार्गी बुलबुल ने स्वयंसेवकों को बताया कि स्वस्थ काया मनुष्य की शक्ति है जो इस पर ध्यान दें वही समझदार व्यक्ति है, उन्होंने कहा कि उपचार से बेहतर है रोक थाम स्वस्थ शरीर के लिए है व्यायाम मुख्य वक्ता के रूप में सीनियर प्रोफेसर डॉ निशी अवस्थी जी ने स्वयं सेविकाओं को बताया कि कोई भी बुरी आदत जैसे धूम्रपान, शराब की बुरी आदतों से सदैव बचना चाहिए जो स्वास्थ्य के लिए बहुत ही हानिकारक होती हैं उन्होंने साथ यह भी कहा कि भोजन से पहले धोएं हाथ यह है सबसे जरूरी बात, मुख्य वक्ता के रूप में आई हमारी सीनियर प्रोफेसर डॉ इंदु शर्मा जीने स्वयंसेवकों को बताया कि भरपूर पानी पीना भी हमारे शरीर को स्वस्थ रखने का एक अच्छा तरीका है क्योंकि यह संक्रमण के खतरे को कम करता है अच्छा स्वास्थ्य एक खुशहाल और शांतिपूर्ण जीने का स्त्रोत्र है धन से बड़ी चीज है मनुष्य के लिए अच्छा स्वास्थ होना। मुख्य अतिथि के रूप में आई हमारी सीनियर प्रोफेसर डॉक्टर सुभ्रा महेश्वरी ने स्वयं सेविकाओं को बताया की स्वस्थ और रोगमुक्त शरीर की प्राप्ति के लिए स्वच्छता बहुत जरूरी है उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य को अच्छा बनाए रखने के लिए पर्यावरण को भी स्वच्छ बनाए रखना होगा। इसके उपरांत स्वयं सेविकाओं ने भी स्वच्छता और स्वास्थ्य पर अपने अपने विचार रखें कार्यक्रम अधिकारी डॉक्टर सरलादेवी चक्रवर्ती जी ने भी स्वयं सेविकाओं को अच्छे स्वास्थ्य के लिए शुभ आशीष दिया साथ ही उन्होंने स्वयं सेविकाओं को बताया कि स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मस्तिष्क का विकास होता है। इसके अतिरिक्त डॉ शुभी भसीन का विशेष सहयोग रहा।
छात्राओं में कु साक्षी, अनुष्का, शाजिया, सेजल, अर्चना भारती, अंजलि, लवली शर्मा, रेखा आदि ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों से स्वास्थ्य व स्वच्छता पर जोर दिया।
इसके उपरांत कार्यक्रम अधिकारी डॉ सुमन सिंह ने अपनी प्राचार्या डॉक्टर गार्गी बुलबुल वक्ता के रूप में आए सभी विशेष अतिथियों का वह स्वयं सेविकाओं का साथ ही पूरे महाविद्यालय के स्टाफ को बहुत-बहुत धन्यवाद दिया जिन्होंने इस कार्यक्रम को सफल बनाने में अपना महत्वपूर्ण समय व योगदान दिया इसी के साथ कार्यक्रम के समापन की घोषणा भी की।

Leave a Reply

%d bloggers like this: