जिले में सभा को संबोधित करते रहे मुख्यमंत्री 11 बजे विद्यालय में ताले लगाकर भाग गए अध्यापक

गांव के शिक्षामित्र ने भी नहीं समझी अपनी जिम्मेदारी

बदायूँ ब्यूरो की रिपोर्ट

बदायूँ:-कुंवर गांव।जिले में शिक्षा की दशा बहुत ही दयनिय और खराब है जहां मंगलवार को सूवे के मुखिया योगी आदित्यनाथ सहसवान में एक सभा को कर रहे थे संबोधित उधर सरकारी विद्यालय का स्टाफ बरत रहा था लापरवाही ।
मामला सलारपुर ब्लाक क्षेत्र के गांव पड़ौलिया का है जहां एक संविलयन विद्यालय व अंग्रेजी मीडियम विद्यालय बना हुआ है ।जिसे अध्यापकों के द्वारा मंगलवार को सुबह समय से खोला गया था।सभी बच्चे व अध्यापकों का स्टाफ विद्यालय में उपस्थित हुआ था व बच्चों के लिए मिड-डे-मील खाना बनवाकर खिलाया गया था। लेकिन सुबह साढ़े दस बजे के लगभग विद्यालय में उपस्थित अध्यापक, अध्यापिकाएं विद्यालय को गांव के ही शिक्षामित्र भजनलाल के सहारे छोड़ कर चले गए ।जिसके बाद विद्यालय में उपस्थित शिक्षामित्र ने भी अपनी जिम्मेदारी नहीं समझी और लगभग ग्यारह बजे शिक्षामित्र भजनलाल ने भी बच्चों की छुट्टी कर दी और समस्त विद्यालय में ताले लगवाकर अपने निजी काम से चले गए । जहां योगी सरकार लगातार शिक्षा पर जोर दे रही है वहीं पड़ौलिया विद्यालय के अध्यापक लापरवाही बरत रहे हैं ।अध्यापकों को जिले में सभा कर रहे मुख्यमंत्री का बिल्कुल भी डर नहीं हुआ । और समय से पहले ही विद्यालय में ताले लटकाकर बंद कर दिया गया ।अगर विद्यालय में उपस्थित अध्यापकों की ठीक प्रकार जांच की जाए तो कई अध्यापकों पर गाज गिर सकती है ।
जहां विद्यालय में गंदगी की भी भरमार है विद्यालय के परिसर में कूड़े को इकट्ठा कर एक ठेली में भरकर खड़ा कर दिया गया । विद्यालय में शौचालयों की बुरी दशा है और जहां बालक बालिका शौचालय में ताले लटके हुए हैं जो आज तक कभी खुले ही नहीं । केवल एक पेशाब घर का ही ताला खुला हुआ है जिसमें गंदगी की भरमार है । बच्चों को पानी पीने के लिए भी कोई व्यवस्था नहीं है हैंडवाश टूटे पड़े हैं ।

इस संबंध प्रधानाध्यापिका का कहना है कि मुझे डेंगू हो गया है मेरा स्वास्थ ठीक नहीं है मैं सुबह विद्यालय से जल्दी चली आई थी

इस संबंध में बीएसए जयप्रकाश का कहना है कि मामले की जांच कराकर लापरवाही बरतने वाले अध्यापकों पर कार्यवाही की जायेगी

Leave a Reply

%d bloggers like this: