स्कूली छात्राओं को दी चाइल्ड लाइन सेवाओं की जानकारी

बदायूँ। केदारनाथ महिला इंटर कॉलेज में चाइल्ड लाइन के द्वारा राष्ट्रीय सेवायोजन की स्वयंसेवी के साथ चाइल्डलाइन वॉलिंटियर मीटिंग की गई जिसमें छात्राओं को चाइल्ड लाइन की सेवाओं के बारे में बताया गया।
सत्येंद्र सिंह ने बताया चाइल्ड लाइन अठारह वर्ष से कम आयु के बच्चों की सुरक्षा व संरक्षण के लिए महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार द्वारा चलाई गई एक राष्ट्रीय आपातकालीन चौबीसों घंटे सातों दिन चलने वाली निशुल्क फोन सेवा है जो मुसीबत में फंसे बच्चे, अनाथ, लावारिस, यौन शोषण या किसी भी तरह से प्रताड़ित बच्चों की मदद करता है 1098 इसका टोल फ्री नंबर है।
रचना सिंह ने बताया कि हमारे देश में बालिकाओं व बच्चों के प्रति अपराध बढ़ता जा रहा है ऐसे में अपराध को रोकना हम सब की जिम्मेदारी है समाज मै बदलाव लाने के लियें हम सबको चाइल्डलाइन का वॉलिंटियर बनकर सक्रिय रूप से कार्य करना होगा।
कार्यक्रम अधिकारी प्रवीणा रानी ने उपस्थित बच्चियों से कहख कि बेबस और लाचार बच्चों की मदद करने के लियें चाइल्ड लाइन 1098 का प्रचार प्रसार करे। यह देश की पहली राष्ट्रीय आपातकालीन सेवा है जो केवल और केवल बच्चों के लिए चलाई गई है।
इस मौके रचना सिंह ,सत्येंद्र सिंह राहिबा खान , गौरव प्रताप आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: