वैराग्य मजबूत होने पर धीरे धीरे होती है परमात्मा की प्राप्ति - Latest News & Updates - Rohilkhand Prabhat News

वैराग्य मजबूत होने पर धीरे धीरे होती है परमात्मा की प्राप्ति

Spread the love

बदायूँ। बिसौली तहसील क्षेत्र के ग्राम नसरौल श्रीमद् भागवत कथा का शुभारंभ हुआ कथा के दूसरे दिन प्रवक्ता आचार्य बिपिन बिहारी महाराज ने बताया भागवत का अर्थ है भक्ति ज्ञान वैराग्य और तारण भागवत ना सिर्फ आध्यात्म सिखाती है बल्कि भागवत से जीवन जीने की राह मिलती है भागवत का आध्यात्मिक अर्थ भा यानी भक्ति ग यानी ज्ञान व मतलब वैराग्य और त से तत्त्व है गृहस्थ जीवन में भी रहकर वैराग्य धारण कर सकते हैं।
वृंदावन से पधारें आचार्य विपिन बिहारी महाराज ने भागवत के महत्व पर प्रकाश डालते हुये बताया भागवत के श्रवण से ईश्वर और हमारे पूर्वजों को सर्वाधित प्रसन्नता होती है जब जीवन में भक्ति की शुरुआत होती है तो हमारे भीतर ज्ञान पैदा होता है ज्ञान के साथ बैराग की भी उत्पत्ति होती है उत्पत्ति होती है इसके बाद वैराग्य मजबूत होने पर धीरे धीरे परमात्मा की प्राप्ति होती है।
इस मौके पर रामप्रकाश शर्मा रामा शंकर मिश्रा रामवीर शर्मा सुनील शर्मा पूरणमल मिश्रा बलराम मिश्रा प्रेम नारायण गुप्ता जी कांता प्रसाद गुप्ता मोहित गुप्ता सुनील गुप्ता प्रमेश गुप्ता अवनेश मिश्रा कल्लू शंखधार लल्लू शर्मा दीपक मिश्रा राजीव मिश्रा पुत्तू लाल पाठक आदि मौजूद रहे।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *