दुकानदारों की मनमानी..साप्ताहिक बंदी हुई बेअसर.. खुला बाजार

बदायूंं। प्रशासन की अन्देखी के चलते दुकानदार अपनी पूरी मनमानी करने पर उतारू हुये दिखाई देने लगे हैं। साप्ताहिक बंदी बाले दिन भी रोजमर्रा की तरहा बाजार खुला दिखाई देता है जिसकी बजह से बहुत से दुकानदारों को न चाहते हुये भी अडोस पडोस की दुकानें खुली देख कर खुद भी दो पैसे कमाने के लालच में मजबूरन अपनी दुकाने खोलना पडती हैं। खुली दुकानों को कोई बंद कराने व चालान काटने भी कोई नहीं आता है। दुकानदारों ने प्रशासन से साप्ताहिक बंदी बाले दिन बाजार बंद कराने की मांग की है।
जानकारी के मुताबिक सहसवान क्षेत्र में शुक्रवार बाजार की साप्ताहिक बंदी का दिन है मगर यहां प्रशासन की अन्देखी के चलते कोई बंदी का पता ही नहीं चलता है और यहाँ खुली हुई दुकानों का कोई चालान भी काटने नहीं आता है जिसकी बजह से यहां के दुकानदार बेखौफ होकर साप्ताहिक बंदी बाले दिन भी अपनी दुकाने खोल कर बैठ जाते हैं। जिनकी देखादेखी बहुत ऐसे दुकानदार जो साप्ताहिक बंदी बाले दिन अपनी दुकाने नहीं खोलना चाहते है उन्हें भी अडोस पडोस की दुकाने खुली देख दो पैसों के लालच में मजबूरन अपनी दुकाने खोलना पडती हैं।
जबकि यहां के बहुत से दुकानदार चाहते हैं की साप्ताहिक बंदी के दिन पूरी तरहा से बाजार बंद रहे और प्रशासन खुली दुकानों का चालान करे। जिसको लेकर यहां के बहुत से दुकानदार उप जिलाधिकारी से मिलने तहसील पहुंचे जहां उप जिलाधिकारी के नहीं मिलने पर दुकानदारों ने तहसीलदार से बात की कहा कि कुछ दुकानदार साप्ताहिक बंदी वाले दिन अपनी दुकानें खोलकर बैठ जाते हैं। लेकिन हम बहुत से दुकानदार चाहते हैं की बंदी के दिन बाजार पूरी तरहा बंद रहे। तहसीलदार ने थाना प्रभारी पंकज लवानिया को शक्ति के साथ बंदी के दिन बाजार बंद कराने के निर्देश देते हुये कहा कि अगर कोई भी दुकानदार साप्ताहिक बंदी वाले दिन दुकान खोलता पाया जाये तो उसके खिलाफ कठोर से कठोर कार्यवाही की जाये।

Leave a Reply

%d bloggers like this: