सांसद अनुप्रिया पटेल ने वीरांगना ऊदा देवी पासी की शौर्यगाथा को स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल करने की मांग उठाई

नई दिल्ली: अपना दल (एस) की राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने शुक्रवार सायं संसद के बजट सत्र के दौरान वीरागंना ऊदा देवी पासी के पराक्रम एवं शौर्यगाथा का सजीव वर्णन किया एवं वीरांगना ऊदा देवी की शौर्यगाथा को स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल करने की मांग की।

सांसद अनुप्रिया पटेल ने लोकसभा में वीरांगना ऊदा देवी पासी के पराक्रम का उल्लेख करते हुए कहा कि 1857 की क्रांति के दौरान शहीद वीरांगना ऊदा देवी पासी ने अंग्रेजों के छक्के छुड़ा दिए थे। उन्होंने लखनऊ के छठें नवाब वाजिद अलीशाह की सेना में शामिल होकर उनके महिला दस्ते के महिला लड़ाकों की बटालियन बनाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया था।
1857 की नायिका वीरांगना ऊदा देवी पासी
वीरांगना ऊदा देवी पासी ने लखनऊ के सिकंदरबाग में पुरुष की वेशभूषा धारण करके पेड़ पर चढ़कर अंधाधुंध फायरिंग करके 30 अंग्रेज सैनिकों को मार गिराया था। ऊदा देवी पासी की बहादुरी की चर्चा उस वक्त लंदन के प्रमुख अखबारों में भी की गई थी। अत: स्कूली पाठ्यक्रम में वीरांगना ऊदा देवी पासी जी के शौर्यगाथा के वर्णन को शामिल किया जाए, जिससे भारत की आने वाली पीढ़ियां उनके बहादुरी एवं बलिदान के बारे में जान सके।

Leave a Reply

%d bloggers like this: