बाहुबली नेता बसपा विधायक मुख्तार अंसारी के फर्जी ऐंबुलेंस मामले में कोर्ट में आज पेशी

बाराबंकी। उत्तर प्रदेश के बाहुबली बसपा विधायक मुख्तार अंसारी के फर्जी ऐंबुलेंस मामले में बाराबंकी की विशेष सत्र न्यायाधीश एमपीएमएलए कोर्ट नंबर 4 की इंचार्ज मौसमी मदेशिया की कोर्ट में आज पेशी हुई। इसमें मुख्तार अंसारी बांदा जेल से हाजिर हुआ। सुनवाई के दौरान मुख्तार अंसारी ने बेहद गंभीर आरोप लगाए। मुख्तार अंसारी ने आरोप लगाते हुए कहा कि उसकी हत्या के लिये पांच करोड़ की सुपारी दी गई है। मुख्तार के मुताबिक उसे सूचना मिली है कि किसी को मेरी हत्या करने के लिये कहा गया है। साथ ही यह भी कहा गया है कि जो मेरी हत्या कर देगा, उसके घर पांच करोड़ रुपये पहुंच जाएगा। इसके अलावा उसके सारे मुकदमे भी खत्म कर दिये जाएंगे। कोर्ट में वर्चुअल सुनवाई के संबंध में मुख्तार के वकील रणधीर सिंह सुमन ने जानकारी दी।

रणधीर सिंह सुमन के मुताबिक मुख्तार अंसारी ने सुनवाई के दौरान जज के सामने आरोप लगाया कि इन दिनों बांदा जेल में पुलिस-प्रशासन के आलाधिकारी और कुछ संदिग्ध लोग जेल बुक पर एंट्री किये बिना ही अंदर आते है। इतना ही नहीं जह ये लोग आते हैं, तो जेल के सीसीटीवी का मुंह भी घुमा दिया जाता है। मुख्तार का आरोप है कि यूपी की जेलों लगाताप हत्याएं हो रही हैं। गाड़ियों के एक्सीडेंट के नाम पर भी लोगों को मारा जा रहा है। ऐसे में उसे डर है कि उसकी भी जेल में हत्या की जा सकती है। मुख्तार ने जज से मांग करते हुए कहा कि गेटबुक और सीसीटीवी फुटेज की जांच कराई जाये। सारा सच सामने आ जाएगा।

आपको बता दें कि मुख्तार अंसारी पंजाब जेल में बंद रहने के दौरान जिस एंबुलेंस का प्रयोग कर रहा था वह 31 मार्च को चर्चा में आई थी। जांच के बाद दो अप्रैल को इस मामले में मऊ की अस्पताल संचालिका डॉ. अलका राय, शेषनाथ राय, मो. सैयद मुजाहिद, राजनाथ यादव, आनंद यादव, शाहिद, सुरेंद्र शर्मा और अफरोज सहित एंबुलेंस चालक सलीम को पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है, जबकि मुख्तार बांदा जेल में निरुद्ध है। इस मामले में अभीदो लोग फरार हैं। इन पर एसपी द्वारा इनाम भी घोषित किया गया है। आरोपियों की तलाश में पुलिस टीम गैर जिलों में सक्रिय है। जल्द ही उनको पकड़ने में कामयाबी मिलने की उम्मीद है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: